-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

अबुआ आवास गरीब और असहायों के लिए है, इसमे गड़बड़ी करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे- चम्पई सोरेन Abua Awas is for the poor and helpless, those who create disturbances in it will not be spared - Champai Soren.

मुख्यमंत्री ने 24 हजार 827 लाभुकों के खाते में भेजा अबुआ आवास का प्रथम क़िस्त की राशि
जमशेदपुर : पूर्वी सिंहभूम के बिष्टुपुर स्थित गोपाल मैदान में आयोजित कोल्हान स्तरीय अबुआ आवास स्वीकृति पत्र वितरण समारोह के मौके अपने सम्बोधन के दौरान मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि अबुआ आवास गरीब और असहायों के लिए है। यदि इसमे कोई गड़बड़ी की गई तो अधिकारी व पदाधिकारी बख्शे नहीं जाएंगे। इससे पूर्व उन्होंने दीप प्रज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया। इस मौके पर  भाजपा पर जमकर निशाना साधा। तत्पश्चात, रिमोट दबाकर उन्होंने अबुआ आवास के कोल्हान के 24 हजार 827 लाभुकों के खाते में 74 करोड़ 78 लाख 10 हजार रुपए की राशि भेजी। इस मौके पर उन्होंने बताया कि पूर्वी सिंहभूम में 8,138 लाभुक, पश्चिमी सिंहभूम में 10,252 लाभुक और सरायकेला-खरसावां जिले में 6,437 लाभुकों को पहले चरण में आवास बनाने के लिए पहली किस्त दे दी गई है। उन्होंने कहा कि अबतक 2 लाख 92 हजार 624 लाभुकों को अबुआ आवास आवंटित कर दिया गया है। इनमें से पूर्वी सिंहभूम में 1 लाख 5 हजार 810 लाभुक, पश्चिमी सिंहभूम में 1 लाख 3 हजार 319 रुपए और सरायकेला खरसावां में 83 हजार 495 लाभुकों को आवास आवंटित किया गया है। इस दौरान मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने सर्वप्रथम पूर्वी सिंहभूम जिले के संग्राम गांव की निधिबाला रजक को अबुआ आवास का स्वीकृति पत्र दिया। इसके बाद मंच से तीनों जिले के दर्जनों लाभुकों को स्वीकृति पत्र दिया गया। शेष लाभुकों को स्वीकृति पत्र पहले ही बांट दिए गए थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री चंपई ने कहा कि अबुआ आवास गरीबों को ही मिले। अगर लोगों को घोटाला करके आवास दिया जाएगा तो बीडीओ के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार में बिचौलियों के लिए कोई जगह नहीं है। रिश्वत लेकर आवास बांटने वाले अधिकारी जेल जाएंगे। उन्होंने पूर्व हेमन्त सरकार के कार्यकाल की उपलब्धि गिनाते हुए कहा कि झारखंड के लोग कोरोना काल में राज्य के बाहर विभिन्न शहरों में फंसे हुए थे। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने हवाई चप्पल पहनने वाले इन मजदूरों को हवाई जहाज में बैठा कर झारखंड पहुंचाया। कोरोना काल में जब झारखंड के गरीब परेशान थे, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उनके लिए पेंशन योजना चालू की। छात्रवृत्ति तीन गुना बढ़ा दी ताकि आदिवासी का बेटा भी पढ़ाई करे और आगे बढ़े। सीएम ने कहा कि अबुआ आवास देने के लिए 8 लाख लोगों की सूची बनी है। उनका सत्यापन कर धीरे-धीरे इन्हें आवास दिया जा रहा है।
भाजपाई गांव जाएंगे तो वहां हेमंत की योजना मिलेगी
सीएम चम्पई सोरेन ने भाजपा को निशाना लेते हुए कहा कि अब भाजपा गांव चलो अभियान चला रही है। लेकिन भाजपाई गांव जाएंगे तो वहां पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की योजनाएं मिलेंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इतना काम किया कि भाजपा के पेट में दर्द होने लगा। उन्होंने कहा कि अभी भाजपा मुद्दाविहीन हो चुकी है। इसीलिए उन्होंने ईडी लगाकर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जेल भिजवा दिया।


30 लाख उपभोक्ताओं को मिलेगा 125 यूनिट बिजली फ्री होने का लाभ
मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि हमारी सरकार पहले 100 यूनिट तक बिजली फ्री देती थी। अब उन्होंने 125 यूनिट बिजली फ्री कर दी है। राज्य के 30 लाख  विद्युत उपभोक्ताओं को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि भाजपाई आयुष्मान कार्ड का बखान कर रहे हैं। लेकिन, झारखंड के लोग जब आयुष्मान कार्ड लेकर अस्पताल जाते हैं तो वहां उन्हें बताया जाता है कि केंद्र सरकार से पैसा नहीं मिला है, इसलिए, आयुष्मान कार्ड का लाभ नहीं मिलेगा।

नहरों का जाल बिछाकर खेतों तक पहुंचाएंगे पानी
उन्होंने कहा कि झारखंड में 1500 से अधिक उद्योग हैं। इन उद्योगों में आदिवासियों को 85 प्रतिशत नौकरी मिलेगी। यह कानून पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ही बनाया था। मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि स्वर्णरखा और खरकई नदियों से नहरों का जाल बिछेगा और किसानों के खेत में पानी पहुंचेगी ताकि उनकी आमदनी बढ़े। किसान 12 महीना खेती कर सकेंगे। इस मौके पर कोल्हान के तीनो जिले के सभी विधायक, कई मंत्री, प्रशासनिक अधिकारी, झामुमो नेता व कार्यकर्ता समेत काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।
Post a Comment

Post a Comment