-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब राहुल गांधी निकालेंगे 'भारत न्याय यात्रा' After Bharat Jodo Yatra, now Rahul Gandhi will take out 'Bharat Nyay Yatra'


★14 जनवरी को मणिपुर से होगा यात्रा प्रारम्भ
रांची (Ranchi) : भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब कांग्रेस 'भारत न्याय यात्रा' निकालने जा रही है। यह यात्रा कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाली जाएगी। राहुल गांधी आगामी 14 जनवरी को मणिपुर से यह यात्रा शुरू करेंगे और 20 मार्च को मुंबई में यात्रा पूरी करेंगे। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश और पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल ने बुधवार को कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह जानकारी दी। रमेश ने कहा कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में 14 जनवरी को मणिपुर से 6,200 किलोमीटर की 'भारत न्याय यात्रा' शुरू की जाएगी। यह यात्रा 14 राज्यों के 85 जिलों से गुजरने के बाद 20 मार्च को मुंबई में समाप्त होगी। पूर्व से पश्चिम तक निकाली जाने वाली यह 'भारत न्याय यात्रा' देश के लोगों को आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक न्याय दिलाने के लिए होगी।

खड़गे दिखाएंगे भारत न्याय यात्रा को हरी झंडी

यात्रा के बारे में जानकारी देते हुए केसी वेणुगोपाल ने कहा कि 21 दिसंबर को कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने राय दी थी कि राहुल गांधी को पूर्व से पश्चिम तक यात्रा शुरू करनी चाहिए। राहुल गांधी भी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की इच्छाओं को पूरा करने के लिए तैयार हो गए हैं। इसलिए, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने 14 जनवरी से 20 मार्च तक मणिपुर से मुंबई तक भारत न्याय यात्रा आयोजित करने का निर्णय लिया है। 14 जनवरी को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे इंफाल से भारत न्याय यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। वेणुगोपाल ने कहा कि पहले चरण में राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक 12 राज्यों में लगभग 4,500 किलोमीटर की यात्रा की थी। इस बार वह 14 राज्यों को कवर करते हुए 6,200 किलोमीटर की यात्रा करेंगे।

भारत न्याय यात्रा इन राज्यों से होकर गुजरेगी

वेणुगोपाल ने बताया कि भारत न्याय यात्रा मणिपुर, नागालैंड, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, उड़ीसा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरेगी।

भारत न्याय यात्रा ज्यादातर बस से होगी

जयराम रमेश ने बताया कि भारत न्याय यात्रा ज्यादातर बस से की जाएगी। हालांकि यात्रा के दौरान हर दिन पदयात्रा भी निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने तीन मुद्दे उठाए थे: आर्थिक असमानता, सामाजिक ध्रुवीकरण और राजनीतिक तानाशाही। लेकिन, भारत न्याय यात्रा का मुद्दा आर्थिक न्याय, सामाजिक न्याय और राजनीतिक न्याय है।
Post a Comment

Post a Comment