-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

हथियाडीह के ग्रामीणों ने दिया धरना, नहीं बनने दी जमना ऑटो की चहारदीवारी Villagers of Hathiyadih staged a protest, did not allow the boundary wall of Jamna Auto to be built


गम्हरिया : जियाडा द्वारा उद्योग स्थापित करने को लेकर जमना ऑटो को आवंटित जमीन पर दोबारा विवाद उत्पन्न करते हुए हथियाडीह के सैकड़ों महिला व पुरुषों ने बुधवार को दिनभर धरना दिया। इस दौरान उन्होंने कंपनी के कामगारों को जमीन की चहारदीवारी नहीं करने दी। हथियाडीह के ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए वहां सरायकेला एसडीएम पारुल सिंह द्वारा दंडाधिकारी और पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गई थी लेकिन इसके बावजूद ग्रामीणों ने निर्माण कार्य नहीं होने दी। गौरतलब है कि जमना ऑटो की चहारदीवारी निर्माण को लेकर बुधवार को पुलिस बल के साथ दंडाधिकारी के रूप में जियाडा के अधिकारी अश्विनी कुमार को प्रतिनियुक्त किया गया था जो दिनभर वहां डटे रहे। वहीं,आदित्यपुर थाना प्रभारी राजन कुमार और गम्हरिया थाना प्रभारी आलोक दूबे भी दल बल के साथ तैनात रहे।


विदित है कि जमना ऑटो को पिछले दो साल से आवंटित जमीन की चहारदीवारी करने नहीं दी जा रही है। हथियाडीह के लोग आवंटित जमीन के एक हिस्से में खेल के मैदान होने की बात कह रहे हैं। वैसे एक माह पूर्व इस विवाद को त्रिपक्षीय वार्ता कर सुलझा लिया गया था, लेकिन इस समझौते को गाँव के दूसरे पक्ष के लोग नहीं मान रहे हैं और दोबारा विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। ग्रामीणों के इस विरोध का समर्थन भाजपा और बिरसा सेना ने भी किया है।
Post a Comment

Post a Comment