-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

सरायकेला के बिरसा मुंडा स्टेडियम में मंत्री चम्पई सोरेन ने किया झंडोत्तोलन Minister Champai Soren hoisted the flag at Seraikela's Birsa Munda Stadium


#राज्य को आगे ले जाने के लिए सरकार कृत संकल्पित- चम्पई सोरेन
सरायकेला: पूरे जिले में देश का 77वां स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर के जिले के सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों, स्कूल, कॉलेज और औद्योगिक प्रतिष्ठानों में राष्ट्र ध्वज फहराकर स्वतंत्रता आंदोलन के वीर शहीदों को नमन किया गया। इस अवसर पर राज्य के आदिवासी कल्याण सह परिवहन मंत्री चंपई सोरेन ने जिले के प्रमुख बिरसा मुंडा स्टेडियम में झंडोत्तोलन कर तिरंगे को सलामी दी. इससे पूर्व मंत्री का उपायुक्त रविशंकर शुक्ला एवं एसपी डॉ. विमल कुमार द्वारा स्वागत किया. उसके बाद मंत्री ने वहां परेड का निरीक्षण किया. इस अवसर पर अपने संबोधन में मंत्री चम्पई सोरेन ने राज्य के लोगों को आजादी की शुभकामनाएं देते हुए कहा  कि देश के महान स्वाधीनता सेनानियों की वजह से आज हम आजादी का उत्सव माना रहे हैं. कहा कि भारत देश अलग-अलग भाषा और अलग- अलग धर्म को मानने वाला देश है. एक सूत्र में जोड़ने के लिए बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने संविधान का निर्माण किया, जिस कारण देश एक सूत्र में बंधा है. मंत्री ने कहा कि अतीत से अपने गौरवशाली इतिहास को जानने के लिए हमारे देश के अमर शहीदों के विषय में जानने की जरूरत है. कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के भौगोलिक परिस्थिति को हमेT जानना होगा. मंत्री ने का झारखंड खनिज संपदाओं से भरा प्रदेश है. यहां के कोयले से पूरे देश की बिजली जलती है. यहां के यूरेनियम से देश और दुनिया की सामरिक शक्ति मजबूत होती है जिससे पूरे देश और दुनिया को आर्थिक संबल प्रदान किया जाता है. झारखंड में ही सारंडा जंगल है जो एशिया महादेश का सबसे बड़ा खनिज संसाधन का स्रोत है. इसके बावजूद यहां के लोग आज भी पिछड़े हैं. उन्होंने कहा कि युवा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में गांव को शहर से जोड़ने का राज्यव्यापी अभियान चल रहा है. राज्य के 8000 पंचायलों में मॉडल स्कूल बनाने की योजना है ताकि गांव-गांव में शिक्षा का अलख जगाया जा सके.  कहा कि ग्रामीण युवाओं को गुणवत्ता युक्त शिक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है.
उन्होंने कहा कि आज देश के आजादी के 77 वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है. वर्तमान में कई सारी चुनौतियां हैं मगर कर्मवीर मुख्यमंत्री हर चुनौतियों को स्वीकार करते हुए राज्य को आगे ले जाने को लेकर कृत संकल्पित हैं. राज्य के आदिवासियों-मूलवासियों के सांस्कृतिक धरोहर को संरक्षित करने की दिशा में काम किया जा रहा है. उनके लिए सरकार राज्य एक से बढ़कर एक योजनाएं ला रही है.    इस मौके पर मंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि विगत 23 वर्षो में राज्य में जो नहीं हुआ, वह युवा मुख्यमंत्री की सोच की वजह से राज्य तरक्की के नए आयाम गढ़ने को आतुर है. इसका परिणाम जल्द सामने नजर आएगा. इस मौके पर जिले के सभी पदाधिकारी समेत काफी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे.
Post a Comment

Post a Comment