Breaking News

डब्ल्यू टाइप सहित आवास बोर्ड के मकान में रहने वालों को नहीं होगी कोई परेशानी- मुख्यमंत्री People living in housing board houses including W type will not face any problem - Chief Minister

डब्ल्यू टाइप फ्लैट के विरुद्ध हो रहे सर्वे-कार्रवाई पर रोक लगाने की माँग पर सीएम चंपाई से मिले पुरेन्द्र संग फ्लैट के निवासी
आदित्यपुर : आदित्यपुर आवास बोर्ड अंतर्गत पुराने/जर्जर एवं आवासन हेतु अयोग्य घोषित वीकर सेक्शन फ्लैट्स डब्ल्यू टाईप के विरुद्ध किए जा रहे सर्वे पर तत्काल रोक लगाते हुए की जा रही संपूर्ण कार्रवाई को रद्द करने की मांग को लेकर डब्ल्यू टाइप संघर्ष समिति का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को आदित्यपुर नप के पूर्व उपाध्यक्ष पुरेंद्र नारायण सिंह एवं पूर्व पार्षद रंजन सिंह के नेतृत्व में झीलिंगगोड़ा स्थित आवास पर मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन से मिलकर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान मुख्यमंत्री को अवगत कराते हुए कहा गया कि नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा अधिसूचना संख्या- 2652, दिनांक 28.10.2020 के आलोक में निजी एजेंसी के माध्यम से आवास बोर्ड अंतर्गत पुराने/जर्जर एवं आवासन हेतु अयोग्य घोषित रेंटल फ्लैट्स, वीकर सेक्शन फ्लैट्स, स्लम तथा जनता फ्लैट का सर्वे कराया जा रहा है, जो कि जन विरोधी, अनुचित और सरकारी राजस्व की बर्बादी प्रतीत हो रहा है। इस कारण यहां रह रहे निवासियों में भय और दहशत का माहौल व्याप्त है और उनके उपर अपने सिर से छत छीन जाने की चिन्ता सताने लगी है। क्योंकि सर्वे कराने वाली एजेंसी के प्रतिनिधियों द्वारा किए जा रहे सर्वे के क्रम में यह बताया जा रहा है कि पुराने, जर्जर और आवासन हेतु अयोग्य घोषित रेंटल फ्लैट्स को ध्वस्त कर वहाँ नए फ्लैट्स का निर्माण कराया जाएगा। पुरेंद्र के नेतृत्व में मिलने गए प्रतिनिधिमंडल की बातों को ध्यान से सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया कि उनके रहते डब्ल्यू टाइप सहित आवास बोर्ड के मकान में रहने वाले लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी। उन्होंने डब्ल्यू टाइप के मकान में रहने वाले लोगों को भाड़ा सह क्रय के आधार पर मकान आवंटित किए जाने का भी आश्वासन दिया। ज्ञात हो कि आवास बोर्ड द्वारा पुराना/जर्जर घोषित वीकर सेक्शन वाला डब्ल्यू टाईप फ्लैट्स आवास बोर्ड, जमशेदपुर प्रमंडल कार्यालय के ठीक सामने स्थित है। डब्ल्यू टाईप में कुल 108 फ्लैट्स हैं, जिसमें फ्लैट्स के आवंटी सपरिवार निवास करते हैं तथा उनके द्वारा नियमित रुप से निर्धारित मासिक किराये का भुगतान भी किया जाता है। साथ ही, उनके द्वारा समय-समय पर आपसी सहयोग तथा निजी खर्च से पुराने और जर्जर हो चुके उक्त फ्लैट्स की मरम्मत और रख-रखाव का काम भी कराया जाता है। परन्तु विभाग द्वारा कराए जा रहे सर्वे के बाद डब्ल्यू टाईप फ्लैट्स में निवास करने वाले लोग भयभीत हैं। पुरेंद्र नारायण ने डब्ल्यू टाइप निवासियों संग मुख्यमंत्री से मिलकर नगर विकास एवं आवास विभाग की अधिसूचना संख्या-2652, दिनांक 28.10.2020 के आलोक में पुराने/जर्जर एवं आवासन हेतु अयोग्य घोषित आदित्यपुर-1 स्थित वीकर सेक्शन फ्लैट्स डब्ल्यू टाईप फ्लैट्स में निजी एजेंसी के द्वारा किए जा रहे सर्वे के काम पर तत्काल रोक लगाते हुए की जा रही संपूर्ण कार्रवाई को रद्द करने की मांग किया। साथ ही, डब्ल्यू टाईप फ्लैट्स में आवासित परिवारों के नाम से संबंधित फ्लैट को भाड़ा सह क्रय के आधार पर आवंटित करने की कार्रवाई सुनिश्चित करने की मांग भी की। मुख्यमंत्री से मिलने गए प्रतिनिधिमंडल में कमलेश कुमार सिंह, सियाराम शर्मा, रामदास महतो, राधे झा, शशि झा, सुमन शेखर, मुकेश ठाकुर,  मुकेश सिंह, प्रभात कुमार सिंह, कुलदीप तिग्गा, अरविंद एक्का, बी0 सिंह, पी0 सिंह, रिंकू महाराज, राजेश महाराज आदि शामिल थे।

0 Comments

Fashion

Type and hit Enter to search

Close