-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

जिले के खरसावां में आयोजित आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल हुए सीएम हेमंत सोरेन, 370 करोड़ के योजनाओं की दी सौगात CM Hemant Soren participated in the 'Aapki Yojana, Aapki Sarkar, Aapke Dwar' program organized in Kharsawan


◆कहा विपक्ष को टीन के चश्मे से नहीं दिखता राज्य का विकास
सरायकेला : सरायकेला खरसावां जिले के खरसावां स्थित गौण्डपुर मैदान में 'आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार' कार्यक्रम के तहत आयोजित शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारे नीति और नियत एक है। हम जो जनता से वादा करते हैं उसे निभाते हैं। आपकी योजना, आपकी सरकार ,आपके द्वार कार्यक्रम से आदिवासी, दलित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक, महिला, युवा, किसान -मजदूर और समाज के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाएं और सेवाएं पहुंच रही है। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जल, जंगल और जमीन को बचाया जाएगा तभी आदिवासी बचेंगे। कहा कि राज्य गठन के बाद यह पहला मौका है जब बीते तीन वर्षों से लगातार सरकार स्वयं चलकर जनता के बीच आ रही है। बीते तीन साल में राज्य सरकार ने विकास का वह मॉडल तैयार किया है जो 20 सालों तक भी पिछली सरकार ने कार्य करने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम के प्रथम चरण में वर्ष 2021 में 35 लाख आवेदन सरकार को प्राप्त हुए जबकि वर्ष 2022 में द्वितीय चरण में 55 लाख आवेदन आए। इससे स्पष्ट है कि बीते 20 सालों में पिछली सरकार ने केवल दिखावा किया है, धरातल पर कोई कार्य नहीं उतरा। उन्होंने कहा कि 40 साल लड़कर अलग राज्य मिला और 20 साल लड़कर हम सरकार में शामिल हुए। तब विकास का खाका तैयार किया गया। लेकिन विपक्ष को यह सब नहीं दिखता क्योंकि विपक्ष टीन के चश्मे से देखता है। सीएम ने कहा कि विपक्ष ने बार-बार सरकार गिराने का प्रयास किया, लेकिन हर बार मुंह की खानी पड़ी। अब 29 दिसंबर को सरकार अपने 4 साल भी पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि हमारे अन्नदाता किसान समृद्ध होंगे तो राज्य समृद्ध होगा। मुख्यमंत्री पशुधन योजना को और सशक्त बेहतर बनाए जा रहा है। अबतक इस योजना में किसानों को गाय, बकरी मिलते थे। लेकिन,अब भैंस भी उपलब्ध होंगे। कहा कि किसानों- पशुपालकों के समृद्ध होने से आर्थिक प्रगति के साथ कुपोषण को भी दूर किया जा सकेगा। अब किसान अंडा, दूध, मांस व मछली भरपूर मात्रा में न सिर्फ उत्पादन करेंगे बल्कि उनका उपभोग भी करेंगे। ऐसा करने से झारखंड से कुपोषण का नामोनिशान मिटेगा। कहा कि सरकार किसानों को समृद्ध बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में सिद्धू-कान्हू वन उपज फेडरेशन का गठन कर लिया गया है। वन उपज को अब सरकार ही खरीदेगी और इसका न्यूनतम समर्थन मूल्य, एमएसपी भी निश्चित होगा ताकि किसानों को बाजार के बिचौलिए और दलालों से बचाया जा सके। धान उपज को बेहतर करने के उद्देश्य से सरकार अधिक से अधिक धान क्रय कर रही है। इसी कड़ी में नए राइस मिल भी स्थापित होंगे। जो युवा राइस मिल खोलना चाहते हैं उन्हें जमीन तक सरकार उपलब्ध कराएगी।


50 हजार नई नियुक्तियां जल्द
कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य सरकार शिक्षकों की लगातार नियुक्ति कर रही है। जेपीएससी के माध्यम से भी नियुक्तियां जारी है। उन्होंने कहा कि 50 हजार नई नियुक्तियां राज्य सरकार जल्द निकालेगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना को भी समृद्ध किया जा रहा है ताकि कम पढ़े लिखे लोग जो रोजगार प्राप्त नहीं कर सकते वे भी स्वरोजगार से जुड़े। बैंक स्वरोजगार के लिए लोन नहीं देते, लेकिन सरकार स्वरोजगार के लिए बिना गारंटी ऋण उपलब्ध कराएगी।
इससे पूर्व श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, आदिवासी कल्याण सह परिवहन मंत्री चंपई सोरेन आदि ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सरकार की उपलब्धियों को गिनाया।
कार्यक्रम में ईचागढ़ की विधायक सविता महतो, खरसावां विधायक दशरथ गागराई आदि ने भी संबोधित किया। शिविर में बड़ी संख्या में महिला पुरुष, युवा और बच्चे शामिल थे। आपकी योजना, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में मनरेगा जॉब कार्ड, अबुआ आवास योजना, आधारकार्ड सुधार, सर्वजन पेंशन योजना, किशोरी समृद्धि योजना, गुरुजी क्रेडिट कार्ड योजना, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र, केसीसी, साइकिल के।लिए डीबीटी, आयुष्मान गोल्डन कार्ड, मुख्यमंत्री पशुधन योजना, बिरसा सिंचाई कूप संवर्धन योजना, श्रमाधान पोर्टल नया पंजीकरण, राजस्व म्यूटेशन, सामुदायिक और व्यक्तिगत पट्टा संबंधी आवेदन ग्रामीणों से लिए गए। साथ ही आंगनबाड़ी बच्चों को ठंड से बचाव हेतु स्वेटर तथा बुजुर्गों को कम्बल दिया गया। कार्यक्रम के अंत में मुख्यमंत्री नीमड़ीह समेत ईचागढ़ प्रखंड में चल रहे कार्यक्रम से भी ऑनलाइन जुड़े और वहां के लाभूको से रूबरू हुए।
Post a Comment

Post a Comment