-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

समावेशी शिक्षा के तहत आयोजित कार्यशाला में 132 प्रतिभागियों ने लिया भाग 132 participants participated in the workshop organized under inclusive education

कार्यशाला में शामिल प्रतिभागी
गम्हरिया : समावेशी शिक्षा के तहत प्रखंड स्तरीय एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। उत्क्रमित मध्य विद्यालय प्रखंड मुख्यालय परिसर में आयोजित इस कार्यशाला में प्रखंड के सभी आंगनवाड़ी सेविका एवं विद्यालय में अध्ययनरत दिव्यांग बच्चों के अभिभावक  समेत 132 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यशाला का उदघाटन करते हुए बीईईओ सुब्रता महतो ने कहा कि दिव्यांग बच्चों के लिए सरकार की ओर से कई सुविधाएं दी जा रही है। बच्चों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिले, इसमें हम सभी की भागीदारी महत्वपूर्ण है। कहा कि जिनकी दिव्यांगता दिखती नहीं, वैसे बच्चों को भीं चिन्हित करें। उनका प्रमाण पत्र बनवा कर सरकारी योजनाओं से जोड़ें, तभी दिव्यांग बच्चे भी समाज के मुख्यधारा से जुड़ेंगे। कार्यक्रम को रिसोर्स शिक्षिका सीमा कुमारी एवं शिक्षक प्रसेनजीत नाथ ने संबोधित किया। सीमा कुमारी ने कहा कि शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत कोई भी बच्चा बिना नामांकन के नहीं रहना चाहिए। बच्चे को सरकारी योजनाओं को लाभ दिलवाने में आंगनवाडी सेविकाओं का अहम भूमिका होता है आंगनवाड़ी केंद्र से शिक्षा ग्रहण करने के बाद बच्चे को नजदीकी विद्यालय में नामांकन करवाने में सहयोग प्रदान करें | उन्होंने दिव्यांग बच्चों को प्रदान किए जाने वाले सुविधाओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। बताया कि दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के अंतर्गत दिव्यांगता श्रेणी 21 हो गया है। उन सभी श्रेणियों को पहचान कर विद्यालय में नामांकित कराना अनिवार्य है।
Post a Comment

Post a Comment