भाटीन यूरेनियम प्रोजेक्ट में आउट सोर्सिंग में काम देने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने रोका कंपनी का हाइवा, हर घर से दो लोगो को रोजगार देने मांग Villagers blocked the highway of the company demanding outsourcing of work in Bhatin Uranium Project

जादूगोड़ा: भाटीन यूरेनियम प्रोजेक्ट में आउट सोर्सिंग में प्रत्येक घर से दो लोगों को रोजगार देने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने मंगलवार सुबह से कंपनी के यूरेनियम अयस्क वाहन की  ढुलाई ठप्प कर दिया है। भाटीन समेत सड़कघुटू के ग्रामीणों के इस आंदोलन से यूसील की जादूगोड़ा से तुरामडीह यूरेनियम प्रोजेक्ट से यूरेनियम अयस्क की ढुलाई पूरी तरह  ठप्प पड़ गई है जिससे कंपनी को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। इस बाबत पूछे जाने पर कंपनी के उप महाप्रबंधक राकेश कुमार ने कहा कि भाटींन माइंस में अकुशल मजदूर के तौर पर 75 प्रतिशत से अधिक स्थानीय लोगो को रोजगार दिया गया है। इसके बावजूद कंपनी के कार्य में बाधा डालना उचित नही हैं। यहां बताते चले कि यूसील की भाटींन यूरेनियम प्रोजेक्ट में दो गुटों में वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। जिसकी वजह से समस्या पैदा हो रही है। माइंस की आउटसोर्सिंग कंपनी 90 प्रतिशत से अधिक भाटींन गांव के ग्रामीणों को रोजगार दे रखा है। उसके बावजूद उनके इस आंदोलन से कंपनी प्रबंधक परेशान व हैरान है। बहरहाल देखना यह है कि कंपनी प्रबंधक इस मामले को कैसे सुलझा पाती है। जबकि कंपनी की ओर से ज्यादातर स्थानीय लोगों को रोजगार दिया है।

Post a Comment

0 Comments