-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

पांच दिनों से अकेले ही किलियारा टनल में फंसे झारखंड के पन्द्रह कर्मवीरों और उनके परिजनों का हौसला बनाए हैं जमशेदपुर के उपश्रमायुक्त राकेश प्रसाद Jamshedpur's DLC Rakesh Prasad has encouraged fifteen workers of Jharkhand and their families who were stuck alone in Kiliyara Tunnel for five days


आगामी 30 नवंबर तक सुरक्षित निकालने का दिया भरोसा
रांची(विशेष संवाददाता) : उत्तर काशी में विगत दस नवंबर को आए भुकंप से किलियारा टनल में धंसान हो जाने के कारण 41 मजदूर बीते सत्रह दिनों से फंसे हुए हैं। उन्हें बचाने के लिए हर संभावित प्रयास किए जा रहे हैं। पुरा देश इस वक्त उनके सलामती के लिए दुआ कर रहा है। उन कर्मवीरो का हालचाल जानने के लिए प्रत्येक दिन प्रधानमंत्री भी किलियारा टनल से अपडेट लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जो लगातार साइट पर आकर निरीक्षण कर रहे हैं, उन्हें आवश्यक निर्देश दें रहे है। कई केन्द्रीय मंत्री और अन्य राज्यों से मंत्रियों व उच्च अधिकारियों का भी लगातार आने का सिलसिला जारी है। साथ ही, असम, बंगाल, उड़ीसा, बिहार ,उत्तर प्रदेश के उच्च पदाधिकारीगण उत्तरकाशी में रह कर अपने अपने राज्य के फंसे मजदूरों का हालचाल जानने के लिए मौजूद हैं। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार, पांच दिनों से एकमात्र अकेले ही उत्तर काशी में रह कर झारखंड श्रम नियोजन विभाग के संयुक्त श्रमायुक्त सह जमशेदपुर के उप श्रमायुक्त राकेश प्रसाद सुबह से लेकर शाम तक झारखंड के पन्द्रह कर्मवीरों की कुशलता की जानकारी लेकर वहां उपस्थित उनके परिजनों से मुलाकात कर उनका हौसला बनाए हुए है।


प्रत्येक दिन वहां के वस्तुस्थिति की जानकारी श्रम विभाग के सचिव राकेश शर्मा को दे रहे हैं जो राज्य के मुख्यमंत्री को अवगत करा रहे है और आगे का दिशा-निर्देश प्राप्त कर अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। उन्होंने आश्वस्त कराया है कि युद्धस्तर से चल रहे बचाव कार्य में अगर किसी प्रकार का अड़चन नहीं आया तो आगामी 30 नवंबर तक सुरंग में फंसे सभी कर्मवीरों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया जाएगा। उसके बाद कर्मवीरों का स्वास्थ्य जांच कर सही सलामत उन्हें कुशलतापूर्वक परिजनों के साथ घर वापस भेज दिया जाएगा।
Post a Comment

Post a Comment