-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

अखंड सुहाग के लिए किया जाने वाला हरितालिका तीज और चौठचंद्र (चौरचन) सोमवार को, जानें इसके पूजन और हरितालिका तीज के पारण का शुभ समय जमशेदपुर के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित श्री ए. के. मिश्रा से। HARITALIKA TEEJ & CHOUTHCHANDRA 2023.


                  🙏हरि ॐ🙏
भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि सोमवार 18 सितंबर 2023 को हरितालिका तीज व्रत है। सुहागन अपने अखण्ड सौभाग्य हेतु इस व्रत को करती हैं।
       सोमवार १८ सितंबर को हरितालिका तीज पूजन प्रातः सूर्योदय से दिवा 12: 38(बारह बजकर अड़तीस मिनट) के मध्य तक ही कर लेनी चाहिए। अतः हरितालिका पूजन हेतु शुभ मुहूर्त प्रात: 5:35(पांच बजकर पैंतीस मिनट) से दिवा 07:04 (सात बजकर चार मिनट) तक,दिवा 08:38 (आठ बजकर अड़तीस मिनट) से 10:07 (दस बजकर सात मिनट) तक एवं सर्वोत्तम मुहूर्त दिवा 11:16  (ग्यारह बजकर सोलह मिनट) से दिवा 12:04 (बारह बजकर चार मिनट) तक है।
     सोमवार 18 सितंबर को ही प्रदोषव्यापिनी चतुर्थी तिथि होने के कारण इसी दिन चौठचंद्र (चौरचन), पत्थर चौठ एवं कलंक निवारण चतुर्थी व्रत भी है। चौठचंद्र (चौरचन), कलंक निवारण चतुर्थी पूजन हेतु सर्वोत्तम मुहूर्त संध्या 06:01 (छह बजकर एक मिनट) से रात्रि 07:40 (सात बजकर चालीस मिनट) तक है।
          हरितालिका तीज व्रत का पारण मंगलवार 19 सितंबर की प्रातः सूर्योदयोपरांत शीघ्र अति शीघ्र किसी भी समय किया जा सकता है।
          सभी शुभेच्छु मित्रों को हरितालिका तीज एवं कलंक निवारण चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं!
              आचार्य ए.के.मिश्रा
                   जमशेदपुर
Post a Comment

Post a Comment