-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

अमृत भारत योजना के तहत चांडिल स्टेशन होगा पर्यटक स्टेशन के रूप में विकसित Chandil station will be developed as a tourist station under Amrit Bharat Scheme.



रेल अधिकारियों और डीआरयूसीसी सदस्यों की सम्पन्न हुई बैठक में लिए गए निर्णय
चांडिल : अमृत भारत योजना के तहत चांडिल रेलवे स्टेशन को आद्रा रेल मंडल द्वारा सौंदर्यीकरण कर पर्यटक स्टेशन के रूप में विकसित किया जाएगा। गुरुवार को डीआरयूसीसी सदस्य और रेलवे के अधिकारियों की हुई बैठक में इस मुद्दे को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा कर निर्णय लिया गया। बताया गया है कि     चांडिल डैम, दलमा हाथी अभयारण्य, जयदा स्थित ऐतिहासिक बुढाबाबा शिव मंदिर, ईचागढ़ का चतुर्मुखी शिव मंदिर, पटमदा का हाथीखेदा मन्दिर समेत आसपास स्थित पर्यटक और ऐतिहासिक स्थलों के कारण चांडिल रेलवे स्टेशन को उस सूची में शामिल किया जाएगा. इस दौरान रेलवे के पदाधिकारियों ने बताया कि जल्द ही इसकी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी. पर्यटक स्थल का स्टेशन बनने पर यात्री सुविधाओं में भी बढ़ोतरी होगी और स्टेशन का विकास भी किया जाएगा. बैठक में बराभूम पैसेंजर को चांडिल स्टेशन तक चलने की मांग पर रेलवे की ओर से इसकी जांच करने के बाद अहर्ता पूरी करने पर ट्रेन को चांडिल तक चलाने की बात कही गई. बताया गया कि अमृत भारत योजना के तहत इस स्टेशन पर अतिरिक्त प्लेटफार्म शेड का निर्माण कराया जाएगा. साथ ही, दिव्यांगों के लिए जल्द ही दो लिफ्ट का निर्माण कराया जाएगा. स्टेशन में ट्रेन इंडिकेशन कोच लगाने की प्रक्रिया चल रही है. जल्द ही कोच इंडिकेशन बोर्ड का भी टेंडर कर दिया जाएगा. अत्याधुनिक अनाउंसमेंट सिस्टम के लिए भी कार्य चल रहा है जिसे जल्द इंस्टॉल कर दिया जाएगा. बैठक के दौरान डीआरयूसीसी सदस्य दिवाकर सिंह द्वारा उठाए गए मामलों पर रेलवे के अधिकारियों ने इसके साथ ही किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी. पदाधिकारियों ने चांडिल स्टेशन साइडिंग में प्रदूषण की रोकथाम के लिए किए जाने वाली सभी उपायों की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदूषण की जांच करवाकर कैमरा लगवाया जाएगा. इसके बाद सीसीटीवी के माध्यम से उसकी मॉनिटरिंग की जाएगी. डीआरयूसीसी सदस्य दिवाकर सिंह ने बताया कि उनके द्वारा उठाए गए विभिन्न मामलों पर रेलवे ने सकारात्मक जवाब दिया है. बैठक में चांडिल और नीमडीह स्टेशन के रिपेयरिंग के घटिया निर्माण कार्य की जांच का आदेश विभागीय पदाधिकारी को दिया गया. बताया गया कि जांच में कुछ भी गलत पाए जाने पर संवेदक से दोबारा निर्माण कार्य कराया जाएगा. नीमडीह के फाटक संख्या 52 में अंडरपास निर्माण के टेंडर की प्रक्रिया चल रही है. वहीं नीमडीह यार्ड फाटक संख्या 50 में अंडरपास का निर्माण दलदली जगह होने के कारण संभव नहीं है. वहां पर आद्रा रेल मंडल द्वारा जांच कर ओवर ब्रिज बनाने की प्रक्रिया की जाएगी. इसके अलावा जीआरपी के पदाधिकारियों के रहने के लिए उचित व्यवस्था और साफ-सफाई की मांग पर डीआरएम ने जांच कर इस पर भी कार्य करने का आदेश दिया है.
Post a Comment

Post a Comment