Breaking News

नरवा पहाड़ के खुकड़ाडीह में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया प्रकृति का महापर्व बाहा बोंगा Nature's great festival Baha Bonga celebrated with enthusiasm in Khukradih of Narva mountain

जादूगोड़ा : नरवा पहाड़ से सटे खुकड़ाडीह में रविवार को जाहेरथान में धूमधाम के साथ बाहा बोंगा पर्व मनाया गया। इस अवसर पर प्रकृति की उपासना की गई। सर्वप्रथम नायके बाबा लखन चंद्र बास्के एंव कार्यकारी नायके बाबा सुनील बास्के की अगुवाई में मारंग बुरू जाहेर आयो की सखुआ और महुआ के फूल से पूजा-अर्चना की गई। इस मौके पर नायके बाबा और ग्रामीणों ने अपने इष्ट देवता की पूजा अर्चना किया व समाज के सुख समृद्धि, महामारी, रोगमुक्त समाज, मौसम के समय पर आगमन, अच्छी बारिश, किसानों की उपज में बढ़ोतरी, आपसी भाईचारा आदि की कामना किया। इससे पूर्व वहां मुर्गा और बकरा की बलि दी गई। इस मौके पर  खिचड़ी बनाकर सामूहिक रूप से  प्रसाद के रूप ग्रहण किया गया। नायके बाबा ने सखुआ का फूल प्रसाद स्वरूप सभी को प्रदान किया। महिलाओं ने सखुआ का फूल को अपने जुड़े में तथा पुरुषों ने अपने कान में लगाया। जाहेर थान में पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ बाहा नाच का आयोजन किया गया। अंत में सांस्कृतिक नृत्य के साथ नायके बाबा को उनके घर तक छोड़ा गया। इस बाहा बोगा पर्व में खुकड़ाडीह समेत गोड़ाडीह, केडो गांव से भारी संख्या में महिलाएं व पुरुषो ने हिस्सा लिया। इस मौके  पर वर्त्तमान माझी बाबा छोटराय हांसदा, जोग माझी पलटन सोरेन, दशरथ मुर्मू, राजाराम मुर्मू, विक्रम मुर्मू, रविलाल बास्के, सुशील सोरेन, दुर्गा सोरेन, गालुराम मुर्मू, बाबुलाल मुर्मू, केटो हांसदा, गणेश मुर्मू, राजेश मुर्मू, बुडा बास्के, रामदास मुर्मू, दुर्गा प्रसाद मुर्मू, कांतो हांसदा, बबलु हांसदा, संजु सोरेन, लेपा हेम्ब्रम, सुनील हेम्ब्रम, मोतीलाल सोरेन,अनिल मुर्मू , सोनाराम मुर्मू, राजू मुर्मू आदि उपस्थित थे।

0 Comments

Fashion

Type and hit Enter to search

Close