-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

मुख्यमंत्री बनने के प्रथम बार अपने पैतृक आवास झिलिंगगोड़ा पहुंचे चम्पई सोरेन, हुआ जोरदार स्वागत Champai Soren reached his ancestral home Jhilingagoda for the first time after becoming the Chief Minister, got a warm welcome


कहा हेमन्त सोरेन के अधूरे कार्य को पूरा कर अंतिम व्यक्ति तक है पहुंचना
★जल्द होगा मंत्रिमंडल का विस्तार
सरायकेला : मुख्यमंत्री बनने के बाद बुधवार को चंपई सोरेन सरायकेला-खरसावां जिले के गम्हरिया प्रखंड अंतर्गत झिलिंगगोड़ा स्थित अपने पैतृक आवास पहुंचे। इस दौरान उनके स्वागत के लिए ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। पैतृक आवास पहुंचने पर उनकी पत्नी, बहु समेत परिजनों ने आदिवासी रीति- रिवाज के साथ पांव धोकर उनका स्वागत किया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने सिद्धू -कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा घर के पास बने जाहेरथान में जाकर आदिवासी वेश भूषा धारण कर पूजा पाठ किया। इस मौके पर मीडिया से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि जो जिम्मेदारी उन्हें मिली है, उसका शत प्रतिशत निर्वहन करेंगे। कहा कि हेमंत सोरेन के अधूरे कार्य को पूरा कर अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना है। उन्होंने कहा कि युवा मुख्यमंत्री रहे हेमंत सोरेन की सोच आदिवासी मूलवासियों के उत्थान और विकास को लेकर बनी योजनाओं को अमली जामा पहनाया जाएगा। आदिवासियों और मूलवासियों के धार्मिक स्थलों जाहेरथान का सौंदर्यीकरण कर विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के प्रयास से गांव तक विकास योजनाओं को पहुंचाने का कार्य शुरू किया गया है जो आगे भी जारी रहेगा। मुख्यमंत्री चम्पई सोरेन ने कहा कि बहुत जल्द ही मन्त्रिमण्डल का विस्तार भी कर लिया जाएगा। विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि हेमन्त सोरेन द्वारा किए जा रहे विकास कार्य को देखकर विपक्ष के पेट मे दर्द होने लगा। इसलिए उन्हें फंसा दिया है।


मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर कोल्हान आयुक्त मनोज कुमार, डीआईजी अजय लिंडा, जिला उपायुक्त रविशंकर शुक्ला, एसपी डॉ0 विमल कुमार समेत जिला व पुलिस प्रशासन के सभी आला अधिकारी मौजूद रहे।
Post a Comment

Post a Comment