-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

कौशल विकास केंद्र अपनी क्षमता के अनुरूप प्रशिक्षुओं का प्रशिक्षण करें सुनिश्चित अन्यथा नियमानुसार कार्रवाई हेतु विभाग को प्रेषित की जायेगी- उपायुक्त Skill development centers should ensure training of trainees as per their capacity


सरायकेला : जिला समाहरणालय सभागार में उपायुक्त रविशंकर शुक्ला की अध्यक्षता में श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग से संबंधित कार्यों की समीक्षा की गई। इस मौके पर उन्होंने कहा कि शॉप एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट एवं फैक्टरीज एक्ट के तहत निबंधित जिले के अधिकांश संस्थाओं ने झारखंड राज्य के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों का नियोजन अधिनियम 2021 के तहत अपना निबंधन करा लिया है। जिन संस्थाओं का निबंधन अब तक नहीं हो पाया है उन्हें चिन्हित कर करवाई करने का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया गया। इस दौरान उन्होंने श्रम अधीक्षक कार्यालय के संबंधित पदाधिकारी एवं कारखाना निरीक्षक को यह निर्देश दिया कि जिन संस्थाओं का निबंधन उनके कार्यालय में नही है एवं यदि वैसे संस्थान जिले में संचालित हो रहे हैं तो 15 अक्टूबर तक मिशन मोड में उन सभी को चिन्हित करना है। स्थानीय युवाओं को स्थानीय संस्थाओं में नियोजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से उपायुक्त ने इंडस्ट्री कनेक्ट प्रोग्राम करने का निर्देश दिया। इसके तहत उद्योग, श्रम एवं अन्य संबंधित विभागों के सामूहिक प्रयास से जिले के सभी नियोजकों एवं कौशल प्रशिक्षण प्रदाता संस्थाओं के बीच बेहतर समन्वय स्थापित कर स्थानीय युवाओं को बेहतर रोजगार के अवसर प्रदान किए जायेंगे। कौशल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान उपायुक्त ने सभी कौशल प्रशिक्षण प्रदाता संस्थाओं को यह स्पष्ट निर्देश दिया कि जिले में प्रभावी मोबिलाइजेशन कर अधिक से अधिक युवाओं को कौशल प्रशिक्षण से जोड़े। साथ ही, अपनी पूर्ण क्षमता के अनुसार एवं स्थानीय मांग के अनुरूप युवाओं को प्रशिक्षित करें।
बैठक में जिला नियोजन पदाधिकारी रवि कुमार, कारखाना निरीक्षक मनीष कुमार, वाइपी रवि प्रकाश सिंह समेंत जिले के सभी कौशल विकास केंद्रों के प्रतिनिधि एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।
Post a Comment

Post a Comment