-->
yrDJooVjUUVjPPmgydgdYJNMEAXQXw13gYAIRnOQ
Bookmark

संथाली भाषा को प्रथम राज्य भाषा की मांग को ले आदिवासी सेंगल अभियान ने जिला मुख्यालय के समक्ष दिया धरना, राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन Adivasi Sengal Abhiyan protested in front of the district headquarter

जमशेदपुर; संथाली भाषा को झारखंड के प्रथम राज्य भाषा का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर आदिवासी सेंगल अभियान के बैनर तले सोमवार को उपायुक्त कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया. इस दौरान महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित दस सूत्री मांग पत्र उपायुक्त को सौंपा गया. धरना पर बैठे सदस्यों ने बताया कि अनुच्छेद 343 के तहत अबतक संताली भाषा को प्रथम राज्य भाषा का दर्जा नहीं देने, झामुमो के विधायकों व सांसदों द्वारा ओलचिकी लिपि का विरोध करने, मरांगबुरु को जैन के अधीन करने, सरना धर्म कोड की जगह सरना आदिवासी धर्म कोड पास करने राज्यपाल को भेजने और लोगों को गुमराह करते उनके बीच लड्डू हुए बांटने जैसे दस मुद्दों पर आदिवासी सेंगल अभियान ने अपना विरोध दर्ज करते हुए पूर्वी सिंहभूम जिला उपायुक्त कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया है. इस दौरान महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित दस सूत्री मांग पत्र जिले के उपायुक्त को सौंपा गया। इन मांगों के पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है. इस मौके पर काफी संख्या में आदिवासी सेंगल अभियान के सदस्य मौजूद थे.
Post a Comment

Post a Comment